Live Cricket Score, Schedule, Latest News, Stats And Much More

  1. Home
  2. NEWS

बजट से ऐन पहले सीमेंट सेक्टर में हो रहा है बड़ा प्रॉफ़िट, सबके निशाने पर हैं ये चुनिंदा स्टॉक्स, आपने ली क्या इंट्री?

बजट से ऐन पहले सीमेंट सेक्टर में हो रहा है बड़ा प्रॉफ़िट, सबके निशाने पर हैं ये चुनिंदा स्टॉक्स, आपने ली क्या इंट्री?
पिछले तीन या चार दिन से सीमेंट कम्पनीज के शेयरों में तेजी देखने को मिल रही है. अल्ट्राटेक और अंबुजा सीमेंट ने कुछ कंपनी का अधिग्रहण किया, जबकि कुछ कंपनियों में हिस्सेदारी खरीदी है.

मुंबई से संचालित हो रहे भारतीय शेयर बाजार में तेजी का सिलसिला जारी है. पिछले कुछ दिनों से मार्केट में सीमेंट सेक्टर के शेयरों में जबरदस्त तेजी देखने को मिल रही है. दिग्गज सीमेंट कंपनियों ने छोटी-मोटी कंपनियों का अधिग्रहण किया है.

बजट से पहले सीमेंट सेक्टर में यह तेजी इस ओर इशारा कर रही है कि सरकार इस बजट में इंफ्रा सेक्टर पर बड़ी घोषणा कर सकती है, जिससे सीमेंट कंपनियों को खास फायदा होने वाला है. हाल ही में अडाणी ग्रुप की अंबुजा सीमेंट ने पेन्ना सीमेंट का 10,422 करोड़ में अधिग्रहण किया था. अब देश की दिग्गज सीमेंट कंपनी अल्ट्राटेक, इंडिया सीमेंट्स में हिस्सेदारी खरीदने जा रही है.

अल्ट्राटेक सीमेंट ने 27 जून को कहा कि कंपनी के बोर्ड ने इंडिया सीमेंट्स में 23 प्रतिशत इक्विटी हिस्सेदारी के अधिग्रहण को मंजूरी दे दी है. अल्ट्राटेक 267 रुपये प्रति शेयर के हिसाब से इंडिया सीमेंट्स के 7.06 करोड़ शेयर खरीदेगी. इस डील का कुल मूल्य करीब 1,885 करोड़ रुपये बैठता है.

दोनों कंपनियों के शेयरों में तेजी

इंडिया सीमेंट्स में अल्टाट्रेक ग्रुप द्वारा हिस्सेदारी खरीदने की खबर के चलते पिछले 2 दिनों से इंडिया सीमेंट्स के शेयर में जबरदस्त तेजी दिखी. इंडिया सीमेंट्स का स्टॉक इंट्राडे हाई लगाकर 298.8 रुपये के 52-सप्ताह के उच्चतम स्तर पर पहुंच गया.

इस शेयर ने दो ट्रेडिंग सेशन में निवेशकों को 15 फीसदी से ज्यादा रिटर्न दे दिया. दूसरी ओर, नेशनल स्टॉक एक्सचेंज पर अल्ट्राटेक सीमेंट के शेयर की कीमत 5 प्रतिशत उछलकर 11,874 रुपये पर पहुंच गई.

बजट से इंफ्रा सेक्टर को बड़ी उम्मीदें

पिछले कुछ समय से सीमेंट शेयरों में तेजी देखने को मिल रही है. एमके ग्लोबल ने सीमेंट सेक्टर पर अपनी कवरेज को लेकर एक नोट में कहा कि सीमेंट शेयरों में पिछले एक महीने में 6-20 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई है. इसका मुख्य कारण स्थिर सरकार और इंफ्रा सेक्टर पर सरकार का फोकस है.