Live Cricket Score, Schedule, Latest News, Stats And Much More

  1. Home
  2. NEWS

आते ही छा गई ये Whisky बेचने वाली कंपनी, लिस्टिंग होते ही निवेशकों को हुआ इतना फायदा

आते ही छा गई ये Whisky बेचने वाली कंपनी, लिस्टिंग होते ही निवेशकों को हुआ इतना फायदा
भारत में शराब बनाने वाला एक बड़ा नाम है Allied Blenders, इसका IPO हाल में ही लिस्ट हुआ है. शराब बनाने वाली इस कंपनी का आईपीओ रिटेल इन्वेस्टर्स के लिए 25 जून को खुला था. 

ऑफिसर्स चॉइस समेत अन्य ब्रांड की Whisky शराब बेचने वाली कंपनी Allied Blenders IPO ने शेयर मार्केट में डेब्यू कर लिया है. मंगलवार को कंपनी के शेयरों की लिस्टिंग हुई.

एक ओर जहां एलाइड ब्लेंडर्स के शेयर बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (BSE) पर 13.20 फीसदी प्रीमियम के साथ 318.10 रुपये पर लिस्ट हुए, तो वहीं नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (NSE) पर कंपनी के शेयरों की लिस्टिंग 13.88 फीसदी प्रीमियम पर 320 रुपये पर हुई. 

उम्मीद के मुताबिक नहीं हुई लिस्टिंग

हालांकि, Stock Market में एलाइड ब्लेंडर्स एंड डिस्टिलर्स की लिस्टिंग उम्मीद से कम रही है. दरअसल, लिस्टिंग से पहले कंपनी को ग्रे मार्केट में 59 रुपये प्रति शेयर का प्रीमियम मिल रहा था, जिससे निवेशकों को इसके शेयरों की लिस्टिंग करीब 20 फीसदी के प्रीमियम पर होने की उम्मीद थी. Allied Blenders IPO को रिटेल इन्वेस्टर्स के लिए बीते महीने की 25 जून को खोला गया था और इसमें 27 जून 2024 तक बोली लगाने का मौका मिला था. 

क्या बजट से पहले Sensex छू लेगा 80000 का आंकड़ा? 

ये एक बुक बिल्ट आईपीओ था और इसके जरिए कंपनी ने कुल 53,380,783 शेयरों के लिए बोली मांगी थी. कंपनी ने रिटेल इन्वेस्टर्स के लिए इश्यू ओपन करने से पहले एंकर निवेशकों से 449.10 करोड़ रुपये कमाए थे.

Allied Blenders and Distillers Limited का IPO 23.5 गुना सब्सक्राइब किया गया था. हाई नेटवर्थ वाले निवेशक यानी NII हिस्से को 32.40 गुना, संस्थागत निवेशक हिस्से (QIB) को 50.37 गुना और रिटेल निवेशक (Retail Investors) का हिस्सा 4.51 गुना भरा था. 

एक लॉट पर 2000 रुपये का फायदा

Allied Blenders ने आईपीओ के तहत 267-281 रुपये का प्राइस बैंड तय किया था. इस इश्यू में 53 शेयरों का एक लॉट साइज तय किया था और इस हिसाब से एक रिटेल निवेशक को कम से कम 14,893 रुपये निवेश करना था.

वहीं बात करें इसकी NSE पर लिस्टिंग के हिसाब से निवेशकों को हुए फायदे के बारे में तो नेशनल स्टॉक एक्सचेंज पर इसकी लिस्टिंग 320 रुपये पर हुई और एक लॉट में निवेश की गई रकम बढ़कर 16,960 रुपये हो गई. यानी झटके में लिस्टिंग के साथ ही निवेशकों को हर लॉट पर 2000 रुपये का फायदा हुआ है. 

वहीं कंपनी ने रिटेल निवेशकों के लिए अधिकतम 13 लॉट की लिमिट सेट की थी और इसके लिए 1,93,609 रुपये का निवेश करना था. ऐसे में इश्यू के तहत तय इस अधिकतम लॉट के लिए बोली लगाने वालों को लिस्टिंग डे पर 26,871 रुपये का फायदा हुआ है और उनके निवेश की रकम बढ़कर 2,20,480 रुपये हो गई है. 

ये हैं कंपनी के फेमस शराब ब्रांड

अलाइड ब्लेंडर्स एंड डिस्टिलर्स कंपनी के फेमस शराब ब्रांड्स की बात करें, तो सबसे आगे ऑफिसर्स च्वॉइस व्हिस्की है, जो कि सालाना बिक्री वॉल्युम के हिसाब से 2016 में पहले नंबर पर रही थी. इसके अन्य ब्रांड्स में Sterling Reserve, ICONiQ Whisky और Officer's Choice Blue शामिल हैं. SEBI के पास जमा कराए गए DRHP के मुताबिक, इश्यू से जुटाए जाने वाले कुल फंड में से 720 करोड़ रुपये से कर्ज चुकाया जाएगा.