Live Cricket Score, Schedule, Latest News, Stats And Much More

  1. Home
  2. home

Share Market: आज ही कर लीजिए तैयारी, सोमवार को बाजार खुलते ही शेयरों पर दिखेगा असर

Share Market: आज ही कर लीजिए तैयारी, सोमवार को बाजार खुलते ही शेयरों पर दिखेगा असर
बजट की तारीख का एलान हो गया है. अगले हफ्ते से कारोबारी साल 2025 की पहली तिमाही के नतीजे भी जारी होने शुरू हो जाएंगे. इसके अलावा कई अन्य फैक्टर्स का बाजार पर असर पड़ेगा.

इस साल के जुलाई महीने की भारतीय शेयर बाजार ने शानदार शुरुआत की है. दिसंबर 2023 के बाद बाजार में लगातार सबसे बड़ी तेजी है और आए दिन रिकॉर्ड स्तर बनाने में कामयाब हो रहा है.

विदेशी संस्थागत निवेशकों की ओर से एक बार फिर भारतीय बाजार की ओर रुख करने, नई सरकार बनने से निवेशकों के सेंटीमेंट में सुधार की वजह से यह रैली दिख रही है. 23 जुलाई को यूनिय बजट भी पेश होना है.

बजट में पॉलिसी को लेकर होने वाले एलान से चुनिंदा स्टॉक्स में एक्शन देखने को मिल सकता है. इसके अलावा अब अगले हफ्ते कंपनियां कारोबारी साल 2025 की पहली तिमाही के नतीजे भी जारी करना शुरू कर देंगी. घरेलू और ग्लोबल मैक्रोइकोनॉमिक आंकड़े, कॉरपोरेट एक्शन, विदेशी फंड इनफ्लो, कच्चे तेल के दाम समेत कई अन्य फैक्टर्स के दम पर बाजार की चाल तय होगी.

पिछले हफ्ते मजबूत ग्लोबल संकेत और बड़े सेक्टर में रैली के दम पर बाजार नए शिखर पर पहुंचने में कामयाब रहा. सेंसेक्स पहली बार 80,000 के पार पहुंचने में कामयाब रहा. 70,000 से 80,000 तक का स्तर इस इंडेक्स ने सबसे तेजी से तय किया है.

निफ्टी भी लगातार पांचवें हफ्ते हरे निशान में बंद होने में कामयाब रहा. IT, फार्मा और एनर्जी शेयरों में सबसे ज्यादा तेजी दिखी. मिडकैप और स्मॉलकैप में भी आउटपरफॉर्मेंस देखने को मिला.

पहली तिमाही के नतीजे

इस हफ्ते से कारोबारी साल 2025 की पहली तिमाही के नतीजों का दौर शुरू हो जाएगा. सबसे पहले आईटी सेक्टर से TCS के नतीजे 11 जुलाई को जारी होंगे.

इसके अगले दिन यानी 12 जुलाई को HCL Technologies के नतीजे जारी होंगे. इस हफ्ते Delta Corp, Tata Elxsi, Nelco और IREDA समेत कई कंपनियां पहली तिमाही के नतीजे करेंगी. आईटी कंपनियों के मैनेजमेंट की कमेंट्री पर खास नजर होगी.

घरेलू मैक्रोइकोनॉमिक आंकड़े

12 जुलाई को इंडस्ट्रियल प्रोडक्शन और महंगाई के आंकड़े भी जारी होंगे. बाजार के सेंटीमेंट पर इसका असर देखने को मिल सकता है.

पिछले हफ्ते भी विदेशी संस्थागत निवेशकों की ओर से खरीदारी देखने को मिली है. FIIs ने पिछले हफ्ते नेट ₹6875 करोड़ के शेयर खरीदे हैं. जबकि, इस दौरान घरेलू संस्थागत निवेशकों ने ₹385 करोड़ के शेयर बेचे हैं.

लगातार दो महीने के बाद FPIs में जून में खरीदार रहे और जुलाई के शुरुआत में भी खरीदारी दिख रही है. मोदी सरकार से अर्थव्यवस्था में मजबूती के संकेत, खासकर मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर, आगामी यूनियन बजट जैसे फैक्टर्स के दम पर संस्थागत निवेशकों की ओर से खरीदारी दिख रही है.

ग्लोबल संकेत

अमेरिकी बाजार में भी रिकॉर्डतोड़ तेजी दिख रही है, जिसपर घरेलू शेयर बाजार की नजर रहेगी. अगले हफ्ते चीन, जर्मनी और अमेरिका में कई आर्थिक आंकड़े जारी होंगे.

गुरुवार को अमेरिका में महंगाई के आंकड़े जारी होंगे, जिससे संकेत मिलेगा कि ब्याज दरों को लेकर फेड का क्या रुख रहने वाला है. 9 जुलाई को फेड चेयरमैन जेरोम पॉवेल की टेस्टीमनी है. इसके अलावा अमेरिका में बेरोजगारी आंकड़े और PP के आंकड़े जारी होंगे.

कच्चे तेल का भाव

पिछले हफ्ते अमेरिका में इन्वेंटरी घटने से अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमत 2 हफ्ते के ऊपरी स्तर पर पहुंची. हालांकि, मिडिल ईस्ट में सीजफायर की खबरों के बाद कीमतों में नरमी भी दिखी. ब्रेंट क्रूड ऑयल 86 डॉलर प्रति बैरल के पार है. जबकि, WTI क्रूड ऑयल 83 डॉलर प्रति बैरल के करीब है.

प्राइमरी मार्केट में एक्शन

इस हफ्ते कोई मेनबोर्ड IPO सब्सक्रिप्शन के लिए नहीं खुलेगा. लेकिन Emcure Pharmaceuticals और Bansal Wire की लिस्टिंग 10 जुलाई को होनी है. SME सेगमेंट में Solar Sahaj का IPO 11 जुलाई को खुलेगा.

Ambey Laboratories का IPO 8 जुलाई को बंद होगा और 11 जुलाई को लिस्टिंग होगी. Effwa Infra and Research और Ganesh Green Bharat का IPO 9 जुलाई को बंद होगा और 12 जुलाई को लिस्टिंग होगी.

कॉरपोरेट एक्शन

अगले हफ्ते कई कंपनियों के एक्स-डिविडेंड, एक्स-स्प्लिट और एक्स-बोनस डेट है. Petronet LNG, JSW Steel, Ujjivan Small Finance Bank, AU Small Finance Bank, DCM Shriram, Sun Pharma, India Oil, Axis Bank समेत अन्य कंपनियों का एक्स-डिविडेंड डेट 12 जुलाई को है.